Slam Rahim Verdict: पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत चार को उम्रकैद की सजा - NEW 2020

Entertainment,latest Movies,etc.....

Breaking News

Thursday, January 17, 2019

Slam Rahim Verdict: पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत चार को उम्रकैद की सजा

Slam Rahim Verdict: पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत चार को उम्रकैद की सजा 

Slam Rahim Verdict: पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत चार को उम्रकैद की सजा

Gurmeet Ram Rahim Singh Verdict: पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड (Ramchandra Chatrapati Murder Case) में सीबीआई कोर्ट ने बाबा गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) को उम्रकैद की सजा सुनाई है। 


पंचकूला: करीब 17 साल बाद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के परिवार को इंसाफ मिला। पंचकूला सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही उनके तीन सहयोगियों को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इसके साथ ही अदालत ने गुरमीत राम रहीम पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। अदालत ने अपने फैसले में साफ कर दिया है कि उम्रकैद की सजा बलात्कार में मिली सजा(20 वर्ष) के बाद शुरू होगी। इसका अर्थ ये है कि जिस समय बलात्कार मामले में सजा समाप्त होगी उस समय राम रहीम की उम्र करीब 70 साल होगी।

सीबीआई ने राम रहीम को फांसी देने की मांंग की थी। राम रहीम व उसके तीन करीबी सहयोगियों को पहले ही दोषी करार दिया जा चुका था। 2002 के इस मामले में इस मामले में राम रहीम के अलावा तीन अन्य दोषियों निर्मल सिंह और कृष्ण लाल और जगदीप सिंह को भी सजा सुनाई गई थी। 51 वर्षीय राम रहीम अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है।

पंचकूला, सिरसा और हरियाणा के अन्य हिस्सों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। सिरसा में डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय है। पंचकूला अदालत परिसर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हरियाणा पुलिस ने अदालत जाने वाले मार्गों पर अवरोधक लगा दिए हैं। राज्य सरकार ने मंगलवार को एक याचिका दायर कर कहा था कि डेरा प्रमुख की आवाजाही के कारण कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो सकती है।

2002 में पत्रकार छत्रपति के समाचार पत्र 'पूरा सच' ने एक पत्र प्रकाशित किया था जिसमें यह बताया गया था कि डेरा मुख्यालय में राम रहीम किस प्रकार महिलाओं का यौन उत्पीड़न कर रहे हैं। इसके बाद छत्रपति को अक्टूबर 2002 में गोली मार दी गई थी। गंभीर रूप से घायल होने के कारण पत्रकार की बाद में मौत हो गई थी। सजा के ऐलान को देखते हुए पंचकूला में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

Slam Rahim

पंचकूला: करीब 17 साल बाद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के परिवार को इंसाफ मिला। पंचकूला सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही उनके तीन सहयोगियों को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इसके साथ ही अदालत ने गुरमीत राम रहीम पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। अदालत ने अपने फैसले में साफ कर दिया है कि उम्रकैद की सजा बलात्कार में मिली सजा(20 वर्ष) के बाद शुरू होगी। इसका अर्थ ये है कि जिस समय बलात्कार मामले में सजा समाप्त होगी उस समय राम रहीम की उम्र करीब 70 साल होगी।


सीबीआई ने राम रहीम को फांसी देने की मांंग की थी। राम रहीम व उसके तीन करीबी सहयोगियों को पहले ही दोषी करार दिया जा चुका था। 2002 के इस मामले में इस मामले में राम रहीम के अलावा तीन अन्य दोषियों निर्मल सिंह और कृष्ण लाल और जगदीप सिंह को भी सजा सुनाई गई थी। 51 वर्षीय राम रहीम अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है। Ads information and protection

पंचकूला, सिरसा और हरियाणा के अन्य हिस्सों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। सिरसा में डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय है। पंचकूला अदालत परिसर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हरियाणा पुलिस ने अदालत जाने वाले मार्गों पर अवरोधक लगा दिए हैं। राज्य सरकार ने मंगलवार को एक याचिका दायर कर कहा था कि डेरा प्रमुख की आवाजाही के कारण कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो सकती है।

2002 में पत्रकार छत्रपति के समाचार पत्र 'पूरा सच' ने एक पत्र प्रकाशित किया था जिसमें यह बताया गया था कि डेरा मुख्यालय में राम रहीम किस प्रकार महिलाओं का यौन उत्पीड़न कर रहे हैं। इसके बाद छत्रपति को अक्टूबर 2002 में गोली मार दी गई थी। गंभीर रूप से घायल होने के कारण पत्रकार की बाद में मौत हो गई थी। सजा के ऐलान को देखते हुए पंचकूला में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

ये भी पढे़ं: बाबा राम रहीम की पेशी को लेकर हरियाणा सरकार को राहत, इस तरीके से होगी पेशी

आरोप लगा था कि गोली डेरा अनुयायियों ने मारी गोली मार दी थी। 2002 के इस मामले में गुरमीत राम रहीम को मुख्य षड़यंत्रकर्ता नामित किया गया है। 2003 में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया था। इस मामले को 2006 में सीबीआई को सौंप दिया गया था। जुलाई 2007 को सीबीआ�

No comments:

Post a Comment

your comment reply 30 minute

Recent Posts

Header Ads

Popular Posts